अगर आप अपने बैंक अकाउंट को अपने एंड्रायड फोन से लिंक कर इसका इस्तेमाल करते हैं तो आपके लिए ये जरूरी खबर है. क्योंकि देश की फेडरल साइबर सिक्योरिटी एजेंसी ने एक एडवाइजरी जारी कर लोगों को आगाह किया है. इसमें कहा गया है कि भारतीय साइबर स्पेस में एक बैंकिंग ट्रोजन मैलवेयर (Trojan Malware) का पता चला है. जो एंड्रॉयड फोन का उपयोग करने वाले बैंक ग्राहकों पर चुपके से हमला करने के लिए तैयार है. उन्होंने ये भी बताया है कि ये मैलवेयर पहले ही 27 से ज्यादा पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के बैंकों को अपना निशाना बना चुका है.

इस एडवाइजरी में कहा गया है कि यह देखा गया है कि भारतीय बैंकिंग ग्राहकों को ड्रिनिक एंड्रॉयड मैलवेयर (Drinik Android Malware) का उपयोग करके एक नए प्रकार के मोबाइल बैंकिंग कैंपेन द्वारा निशाना बनाया जा रहा है. बता दें कि ड्रिनिक ने साल 2016 में एक एसएमएस चोरी करने वाले के रूप में शुरुआत की और हाल ही में एक बैंकिंग ट्रोजन के रूप में विकसित हुआ है जो फिशिंग स्क्रीन प्रदर्शित करता है और यूजर्स को संवेदनशील बैंकिंग जानकारी दर्ज करने के लिए राजी करता है.

सीईआरटी-इन ने कहा कि पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के 27 से ज्यादा भारतीय बैंकों के ग्राहकों को पहले ही हमलावरों ने निशाना बनाया गया है. गौरतलब है कि सीईआरटी-इन साइबर हमलों से निपटने और फिशिंग और हैकिंग हमलों और इसी तरह के ऑनलाइन हमलों के खिलाफ साइबर स्पेस की रक्षा करने के लिए फेडरल टेक्नोलॉजी आर्म है.