भारतीय क्रिकेट टीम को ऊंचाइयों पर ले जाने में पूर्व कप्तानों सौरभ गांगुली और महेंद्र सिंह धोनी दोनों का बहुत बड़ा योगदान रहा है. इन दोनों खिलाड़ियों ने अपने-अपने समय में कप्तान के रूप में टीम इंडिया को बुलंदियों पर पहुंचाया है. कई बार इस बात की चर्चा होती है कि इन दोनों में से कौन बेहतर कप्तान रहा है. अब भारतीय टीम के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग ने बताया है कि इन दोनों में से कौन बेहतर कप्तान रहा है.

वीरेंद्र सहवाग ने एक इंटरव्यू में बताया है कि दोनों ही महान कप्तान थे, लेकिन दोनों में गांगुली बेहतर कप्तान थे. सहवाग ने कहा कि दोनों ही कप्तानी के लिहाज से शानदार थे, लेकिन उन्हें लगता है कि दोनों में गांगुली बेहतर थे. उन्होंने कहा कि क्योंकि गांगुली ने शुरुआत से ही टीम का निर्माण किया और नए खिलाड़ियों को लेकर एक यूनिट का पुनर्निर्माण किया.

सहवाग का मानना है कि गांगुली ने भारतीय टीम को विदेशों में मैच जीतना सिखाया. हमने टेस्ट मैचों में विदेशों में जीत हासिल की. वहीं धोनी इस मायने में भाग्यशाली थे कि उन्हें वह टीम मिली जिसे गांगुली ने बनाया था. इस कारण दोनों महान थे लेकिन गांगुली बेहतर थे. 

बता दें कि सौरभ गांगुली की कप्तानी में भारतीय टीम साल 2003 वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचा था. उनकी कप्तानी में भारतीय टीम ने कई यादगार जीत हासिल की है. जबकि धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने तीनों आईसीसी के खिताब (टी20 वर्ल्ड कप, वर्ल्ड कप, चैंपियंस ट्रॉफी) अपने नाम किया है. धोनी  की कप्तानी में भारत टेस्ट में नंबर वन भी बना है.